Categories
Entertainment Motivational

Madhuri Dixit Ki Kahani Hindi Me Full Information

माधुरी दीक्षित उस वक्त सात या आठ साल की रही होंगी जब पहली बार अखबार में उनके कथक नृत्य की तारीफें छपीं। एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया, ‘उन्होंने गुरु पूर्णिमा के त्यौहार पर एक समारोह में कथक नृत्य की शानदार प्रस्तुति दी थी। उस वक्त एक अखबार के पत्रकार भी वहां मौजूद थे। उन्होंने ही अखबार में वह आलेख लिखा। उस आलेख ने ही मुझे आगे बढ़ने और मेरा लक्ष्य तय करने में बहुत मदद की।’

माधुरी दीक्षित का शुरुआती फिल्मी करियर बहुत ही डगमगाता सा नजर आया। उन्होंने राजश्री प्रोडक्शन में ही फिल्म ‘अबोध’ से अपने करियर की शुरुआत की। यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर कोई कमाल नहीं दिखा पाई और ना ही समीक्षकों की नजरों में चढ़ी। हालांकि माधुरी दीक्षित का अभिनय लोगों की नजर में आ चुका था और यहां से उन्होंने अपने करियर की सकारात्मक शुरुआत की। और फिर उन्हें अभी ‘मोहिनी’ और ‘धक धक गर्ल’ का नाम मिलना भी बाकी था।

Madhuri Dixit Ki Kahani Hindi Me

Madhuri Dixit Ki Kahani Hindi Me

हालांकि अपनी पहली फ्लॉप फिल्म के बाद भी माधुरी दीक्षित आवारा बाप, स्वाति, हिफाजत, उत्तर दक्षिण, मोहरे, खतरों के खिलाड़ी और दयावान जैसी फिल्मों में अहम भूमिका निभाती नजर आईं। लेकिन, माधुरी दीक्षित को अभी तक वह कामयाबी नहीं मिली थी जिसकी वह हकदार थीं। यह सभी फिल्में दर्शकों और समीक्षकों दोनों को ही प्रभावित करने में असफल रहीं। लेकिन, इन फिल्मों के साथ माधुरी अपने अभिनय को और तीखा करती हुई जा रही थीं।

फिर उन्हें वह मौका मिला जिसके लिए आज भी माधुरी दीक्षित को याद किया जाता है। एन चंद्रा के निर्देशन में बनी फिल्म ‘तेजाब’ में वह अनिल कपूर के साथ मुख्य भूमिका में नजर आईं। हालांकि अनिल कपूर के साथ वह फिल्म ‘हिफाजत’ में भी नजर आ चुकी थीं लेकिन यह उनकी पहली फिल्म थी जिसे दर्शकों और समीक्षकों ने भी हाथों हाथ लिया। इस फिल्म में आकर माधुरी दीक्षित ने लोगों को एक दो तीन… की गिनती सिखाई और इस प्रस्तुति ने उन्हें ‘मोहिनी’ के रूप में सदा के लिए अमर कर दिया।

फिल्म ‘तेजाब’ के बाद तो जैसे माधुरी दीक्षित के लिए लॉटरी निकल पड़ी थी। वह लगातार कुछ ऐसी फिल्मों का हिस्सा रहीं जिन्होंने बॉक्स ऑफिस पर हंगामा मचा दिया था। चाहे हम बात करें ‘राम लखन’ की या फिर मिथुन चक्रवर्ती के साथ ‘प्रेम प्रतिज्ञा’ की। और फिर उनकी फिल्म ‘त्रिदेव’ को तो कौन भूल सकता है? इन सभी फिल्मों में माधुरी दीक्षित का एक अलग-अलग रूप देखने को मिला। ये सारे रूप भी माधुरी दीक्षित के प्रशंसकों को बहुत पसंद आए।

माधुरी दीक्षित ने अब तक अपने करियर की लगभग 12 फिल्में में ही की थीं और अब तक वह दो फिल्मों में सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के फिल्म फेयर पुरस्कार के लिए नामित हो चुकी थीं। कई सुपरहिट फिल्में देने के बाद वह समय आया जब माधुरी इंदर कुमार की फिल्म ‘दिल’ में आमिर खान के साथ नजर आईं। इस फिल्म में आमिर खान के साथ उनकी जोड़ी ऐसी जमी कि दर्शकों ने इस रोमांटिक फिल्म के लिए चारों तरफ हाहाकार मचा दिया। यह पहली फिल्म रही जिसके लिए माधुरी दीक्षित को सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के फिल्मफेयर अवार्ड से नवाजा गया।

ऐसा नहीं है कि माधुरी दीक्षित की हर एक फिल्म बहुत अच्छा प्रदर्शन कर रही थी। फिल्म ‘दिल’ और ‘साजन’ तक की दूरी तय करने में उनकी कई फिल्मों ने निराश भी किया। हिट फिल्मोंं ‘बेटा’ और ‘खलनायक’ के बीच में भी उन्होंने कई फ्लॉप फिल्मों में काम किया। उस वक्त कुछ समीक्षकों ने कहा कि अब माधुरी का करियर ढलान पर है। लेकिन, फिर उनके हिस्से आई राजश्री प्रोडक्शन की फिल्म ‘हम आपके हैं कौन’। इस फिल्म ने माधुरी के लिए इतिहास रच दिया। आजकल जो अभिनेता और अभिनेत्रियों को बराबर पैसे पाने की बात होती है, इस फिल्म में उन्होंने उसको उल्टा ही कर दिया था। माधुरी दीक्षित को इस फिल्म में मुख्य अभिनेता सलमान खान से भी ज्यादा पैसे मिले थे। इसी के साथ उन्होंने सभी आलोचकों का मुंह बंद कर दिया था।

Haan Ya Naa | Hindi Stories | Short Hindi Stories | Love Stories in Hindi

हिंदी सिनेमा के लिए यह भी एक रिकॉर्ड है कि माधुरी दीक्षित इकलौती ऐसी अभिनेत्री हैं जो अभी तक अपने अभिनय के लिए 19 बार फिल्मफेयर अवार्ड के लिए नामित हो चुकी हैं। इनमें से वह चार फिल्म दिल, बेटा, हम आपके हैं कौन और दिल तो पागल है में सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का फिल्मफेयर अवार्ड जीत चुकी हैं। वही संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘देवदास’ में चंद्रमुखी का किरदार निभाने पर उन्हें सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री के फिल्मफेयर अवार्ड से भी नवाजा जा चुका है।

एक समय आया जब माधुरी दीक्षित को फिल्में मिलना कम हो गईं। इसलिए उन्होंने शादी करने की ठानी। जब वह फिल्म ‘खलनायक’ में संजय दत्त के साथ नजर आईं थी, तब यही सोचा जा रहा था कि वह संजय दत्त से ही शादी करेंगी। लेकिन जब मुंबई बम धमाकों में संजय का नाम आया तो उन्होंने संजय से शादी करने का इरादा त्याग दिया। बाद में उन्होंने अमेरिका के एक जाने-माने डॉक्टर श्रीराम नेने से शादी कर ली। इस शादी से उन्हें दो बच्चे भी हैं। जब माधुरी से श्रीराम नेने से शादी करने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा ‘श्रीराम खाना बहुत अच्छा बनाते हैं इसलिए मैंने उनसे शादी की।’